पाकिस्तान देगा अफगानिस्तान के नागरिकों को वीजा में छूट


पाकिस्तान ने अफगानिस्तान के छात्रों, बिजनेस मैन, निवेशकों और मरीजों के लिए वीजा पॉलिसी में छूट देने का फैसला लिया है और जल्द ही इसका ऐलान करने वाली है।  अफगानिस्तान में पाकिस्तान के राजदूत मंसूर अहमद खान ने रविवार को कहा कि नई पॉलिसी से अफगानिस्तान में बड़ी संख्या में लोगों को राहत मिलेगी जो बिजनेस, पढ़ाई, मेडिकल सुविधाओं के लिए यहां आना चाहते थे।  उन्होंने कहा, 'अफगान नागरिकों को अधिक सुविधाएं मुहैया कराने के लिए पाकिस्तान सरकार प्रतिबद्ध है। वीजा सिस्टम में छूट का मुख्य मकसद बिजनेसमैन को देश में बुलाना है।'  


अफगानिस्तान के लिए नई वीजा पॉलिसी तैयार करने वाले पाकिस्तानी अधिकारी ने बताया कि सभी प्रपोजल पर अंतिम मुहर लग गई है और इसे मंजूरी के लिए फेडरल कैबिनेट में भेजा गया है। उन्होंने आगे बताया कि छात्रों, बिजनेसमैन, निवेशकों और पर्यटकों को लंबे समय के लिए मल्टीपल वीजा जारी किए जाएंगे। इसके अलावा तोरखम आने वाले मरीजों को मेडिकल वीजा भी दी जाएगी। दोनों देशों के बीच तोरखम सीमा है। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार, 'साथ एक प्रस्ताव यह भी है कि जिनके पास लॉन्ग टर्म वीजा होगा उन्हें हर महीने जाना और दोबारा वापसी अनिवार्य नहीं होगा।' कोविड-19 महामारी से पहले पाकिस्तानी दूतावास और अफगानिस्तान में वाणिज्यिक दूतावास  से हर दिन 2000 से अधिक वीजा जारी किया जाता था। दूतावास ने अफगानिस्तानी छात्रों व जो लोग हवाई यात्रा करते हैं उनके लिए फिर से वीजा सर्विस  शुरू करने का ऐलान किया है।


Popular posts