MSME सेक्टर को गतिशील, आकर्षक बना रही सरकार


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि देश में मौजूद क्षमता, प्रतिभा, मेधा और उद्यमिता के साथ भारत प्रगति के नए रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ने के लिए तैयार है। अंतरराष्ट्रीय एमएसएमई दिवस पर चेंबर ऑफ इंडियन माइक्रो स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज को भेजे एक पत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए भारत में वैश्विक स्तर के उद्योगों का गठन किया जाएगा, एक मजबूत सप्लाई चेन का निर्माण किया जाएगा, बड़े पैमाने पर रोजगार का सृजन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ऐसे परिदृश्य में CIMSME जैसे संगठनों की भूमिका और अहम हो जाती है। 


चेंबर ऑफ इंडियन माइक्रो स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज (CIMSME) के अध्यक्ष मुकेश मोहन गुप्ता को संबोधित पत्र में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि MSME सेक्टर देश के आर्थिक विकास में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। सेक्टर की लाखों इकाइयां देश के आर्थिक इंजन की भूमिका निभाती हैं। हमें अपने MSMEs और स्टार्टअप पर बहुत अधिक भरोसा है। हम इस सेक्टर को अधिक गतिशील और आकर्षक बनाने के लिए लगातार काम कर रहे हैं। उन्होंने MSME की परिभाषा को अधिक व्यापक बनाए जाने या स्पेशल फंड की व्यवस्था किए जाने, आईबीसी से जुड़े फैसले या छोटी गलतियों को अपराध की श्रेणी से बार किए जाने और निवेश की गति को तेज किए जाने से निर्णयों को गिनाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछले 6 साल में हमने अधिक पेशेवर और प्रोसेस के आधार पर काम करने वाला सिस्टम दिया है। उन्होंने कहा कि पिछले 6 साल के दौरान देश को आत्मनिर्भर बनाने के लक्ष्य को ध्यान में रखकर नीतियों का निर्माण किया गया है। कोरोना संकट ने हमें सिखाया है कि इसे और अधिक गति कैसे दिया जा  सकता है। अब 130 करोड़ लोगों ने इस आपदा का इस्तेमाल भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए अवसर के तौर पर करने का संकल्प जताया है। 


Popular posts