ऑनलाइन कैबिनेट बैठक करेंगे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत


कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरा प्रदेश लॉकडाउन है। आम आदमी घरों में कैद है क्योंकि इसके अलावा कोई चारा नहीं। नौकरीपेशा तबका वर्क फ्रॉम होम के तहत घरों से ही अपना काम निबटा रहा है। आम आदमी ही नहीं, खास  लोगों का रूटीन भी कोरोना ने पूरी तरह बदल दिया है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, जो स्वयं कोरोना के खिलाफ सरकार की मुहिम का नेतृत्व कर रहे हैं, भी इससे अछूते नहीं हैं। मूवमेंट को पहले ही सीमित कर चुके मुख्यमंत्री ने फैसला लिया है कि अब कोरोना को लेकर होने वाली बैठकें ऑनलाइन की जाएंगी, ताकि एक ही स्थान पर कई अधिकारियों की मौजूदगी की जरूरत ही न रह जाए।


कोरोना की रोकथाम के लिए जरूरी है कि एक स्थान पर ज्यादा लोग एकत्र न हों। इन दिनों लगातार बैठकों को देखते हुए फैसला किया गया है कि अधिकारियों के साथ ऐसी बैठकें एप के जरिये ऑनलाइन की जाएंगी ताकि किसी को इसके लिए कहीं आने-जाने की जरूरत न पड़े। मुख्यमंत्री ने बताया कि हालांकि कैबिनेट ने परिस्थितियों के मद्देनजर अहम फैसलों के लिए उन्हें अधिकृत कर दिया है, लेकिन फिर भी कैबिनेट की बैठकें ऑनलाइन या वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से की जाएंगी। कहीं भी भीड जैसी स्थिति न बने, इसी कड़ी में मुख्यमंत्री आवास में भी शारीरिक दूरी का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। हर व्यक्ति को सेनेटाइजर व मास्क दिए गए हैं।


धर्मनगरी हरिद्वार में अगले साल होने वाले कुंभ के आयोजन को बदली परिस्थितियों में भी केंद्र सरकार ने अपनी प्राथमिकता में रखा है। केंद्र ने हरिद्वार कुंभ-2021 के लिए 375 करोड़ रुपये की धनराशि मंजूर की है। यह राशि कुंभ मेला स्पेशल असिस्टेंस कैपिटल के रूप में प्रदेश सरकार के प्रस्तावों के सापेक्ष स्वीकृत की गई है। यह राशि मिलने से अब हरिद्वार कुंभ मेला क्षेत्र में चल रहे निर्माण कार्यों में और तेजी आएगी। 


Popular posts