जमातियों की शर्मनाक करतूतों से गुस्से में लोग


भारत में कोरोना के संकट को बढ़ा देने वाले तब्लीगी जमात के लोगों पर नर्सो के साथ अश्लील हरकत करने और डॉक्टरों पर थूकने को लेकर मामला दर्ज होने के बावजूद यह लोग नहीं सुधरे और शुक्रवार को भी देश के अलग-अलग राज्यों में अस्पताल कर्मियों को परेशान करने वाला रवैया जारी रहा।


बिहार के शेखपुरा मस्जिद से तब्लीगी जमात से जुड़े होने के संदेह में पकड़कर अस्पताल में दाखिल कराए गए चार लोगों ने शुक्रवार को अस्पताल कर्मचारियों को दिनभर परेशान किया। पुलिस ने इन्हें व‌र्द्धमान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, पावापुरी (विम्स) के आइसोलेशन वार्ड में रखा है। ये लोग कभी डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मियों को गाली बक रहे हैं और कभी उन पर थूक फेंक रहे हैं। इससे इलाज में परेशानी हो रही है। इसके अलावा उन लोगों ने खाने में प्रतिबंधित मांस की भी मांग की है।


उत्तर प्रदेश स्थित बिजनौर के जिला अस्पताल के क्वारंटाइन वार्ड में भर्ती इंडोनेशिया के जमातियों ने शुक्रवार शाम स्वास्थ्यकर्मियों से बदसलूकी की। डीएम व एसपी ने मौका मुआयना किया। सभी के मोबाइल फोन जब्त कर लिए गए हैं। प्रभारी मंत्री कपिलदेव अग्रवाल ने डीएम से प्रकरण की जानकारी ली। यहां 13 जमाती भर्ती हैं। इनमें आठ इंडोनेशिया के रहने वाले हैं। इनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया गया था। शुक्रवार शाम को जब दो अस्पताल कर्मी इन्हें वार्ड में खाना देने गए तो इन लोगों ने गालीगलौज करते हुए धक्का-मुक्की का प्रयास किया। सीएमएस डॉ. ज्ञानचंद की सूचना पर डीएम रमाकांत पांडेय और एसपी संजीव त्यागी मौके पर पहुंचे। इन्होंने जमातियों को सख्त लहजे में अपना आचरण सुधारने की चेतावनी दी। वार्ड के गेट समेत जिला अस्पताल में कई जगह पुलिस तैनात की गई है। फीरोजाबाद के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराए गए बिहार के सात जमातियों ने गुरुवार रात डॉक्टर और स्टाफ को परेशान कर दिया। वह वार्ड से बाहर निकल यहां-वहां थूकते रहे। इन्हीं जमातियों में चार की रिपोर्ट शुक्रवार को पॉजिटिव आई है।


Popular posts