बिना परीक्षा के 11वीं के स्टूडेंट्स होंगे प्रमोट


असम हॉयर सेकेंड्री एजुकेशन काउंसिल (AHSEC) ने 11वीं के स्टूडेंट्स को प्रमोट को करने का फैसला किया है। इसके तहत स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा के पास कर दिया जाएगा। इसके तहत 2,31 लाख स्टूडेंट्स को 12वीं कक्षा में पास कर दिया जाएगा। यह फैसला देश भर में कोरोना वायरस की वजह से यह फैसला लिया गया है।  वहीं इस बारे में एएचएसईसी के चेयरमैन ने बताया कि परीक्षा विभाग के साथ विचार-विमर्श करने के बाद देश में कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए 11वीं के छात्र-छात्राओं को अगली यानी कि 12वीं की कक्षा में प्रमोट कर दिया जाएगा। 


इस बारे में AHSEC के परीक्षा नियंत्रक पंकज बोरठाकुर ने बताया कि परिषद की परीक्षा समिति के निर्णय को हाल ही में अध्यक्ष ने मंजूरी दे दी है। इससे संबंधित फाइनल आदेश 10 अप्रैल को जारी किए जाने की संभावना है। बता दें कि AHSEC द्वारा आयोजित कक्षा 11 की अंतिम परीक्षा 25 मार्च से शुरू हुई हैं और 8 अप्रैल तक चलनी थी, लेकिन लॉकडाउन के मद्देनजर की वजह से फिलहाल परीक्षा को फिलहाल टाल दिया गया है। बता दें कि इसके अनुसार साइंस,आर्ट्स और कॉमर्स और से कक्षा 11 की परीक्षा में बैठने के लिए कुल 2,31,238 उम्मीदवार रजिस्टर्ड थे। अब इन सभी को 12वीं में प्रमोट कर दिया जाएगा।


 हाल ही में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने ट्विटर पर घोषणा की है कि उन्होंने सीबीएसई से कहा है कि वे सीबीएसई से मान्यता प्राप्त स्कूलों में कक्षा एक से आठवीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों को कोरोनोवायरस महामारी के मद्देनजर अगली कक्षा में प्रमोट कर दें। वहीं केंद्रीय मंत्री के निर्देशों के बाद सीबीएसई ने भी स्कूलों से संबंधित निर्देश दे दिए हैं। वहीं सीबीएसई के अलावा तमाम राज्यों की सरकारे जैसे यूपी, राजस्थान, गुजरात समेत तमाम राज्यों ने पहली से आठवीं तक के बच्चों को बिना परीक्षा के प्रमोट करने का फैसला लिया है।  


Popular posts