जर्मनी, फ्रांस व स्पेन के नागरिकों की भारत में एंट्री बैन


कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए नेपाल से लगी सोनौली व ठूठीबारी सीमा पर विशेष चौकसी बरती जा रही है। सीमा पर 24 घंटे चिकित्‍सकों की टीम आने-जाने वाले लोगों की स्‍क्रीनिंग कर रही है। विदेशी नागरिकों से बाकायदा फार्म भरवाया जा रहा है। सतर्कता के क्रम में भारत सरकार द्वारा विदेशियों के भारत प्रवेश पर रोक लगाने का सिलसिला भी जारी रखा है। मंगलवार की रात नए दिशा-निर्देश नेपाल बार्डर स्थित सोनौली आव्रजन कार्यालय को मिले हैं। इसके अनुसार अब फ्रांस, जर्मनी व स्पेन के नागरिकों को नेपाल के रास्‍ते भारत प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी।


इसके पूर्व कोरोना संक्रमण के मद्देनजर चीन, कोरिया, ईरान, जापान व इटली के नागरिकों का भारत प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया था। आव्रजन अधिकारी ने बताया कि कोरोना के मद्देनजर फ्रांस, जर्मनी व स्पेन के नागरिकों को नेपाल के रास्‍ते भारत प्रवेश की अनुमति नहीं मिल पाएगी। अब तक आठ देशों के नागरिकों पर यह प्रतिबंध लग चुका है। कोरोना वायरस को लेकर पड़ोसी देश नेपाल भी सतर्कता बरत रहा है। नेपाल में मंगलवार से 10 देश के नागरिकों के नए प्रवेश पर रोक लग गई है। अब चीन, हांगकांग, ईरान, इटली, साउथ कोरिया, फ्रांस, जर्मन, स्पेन, सिंगापुर व जापान के नागरिकों को प्रवेश की अनुमति नहीं मिलेगी। प्रतिबंध लगाए जिन देशों के नागरिक नेपाल में हैं उन्हें जाने दिया जाएगा। भारत सहित अन्‍य देशों से लगी सीमा पर स्‍वास्‍थ्‍य शिविर भी लगाया गया है। यहां जांच के बाद ही लोगों को नेपाल में प्रवेश की अनुमति दी जा रही है। 


Popular posts