चीन में कोरोना से मरने वालों की संख्या में आई गिरावट


चीन से आ रहे आंकड़े कोरोना के कहर के कमजोर होने का संकेत दे रहे हैं, लेकिन दूसरे देशों में इसका तेजी से फैलाव नई चिंता का सबब बन गया है। पिछले 15 दिनों में चीन में न सिर्फ कोरोना से ग्रसित नए मरीजों और इससे होने वाली मौतों की संख्या में लगातार गिरावट आई है, बल्कि 50 हजार से अधिक लोग पूरी तरह ठीक भी हो चुके हैं। वहीं इरान, इटली, दक्षिण कोरिया जैसे देशों में पिछले एक हफ्ते में यह तेजी से फैल रहा है।


चीन से मिल रहे आंकड़ों के मुताबिक कोरोना वायरस के कहर का चरम 12 फरवरी को देखा गया था। इस दिन 14,153 नए केस दर्ज किये गए थे। इसके बाद इसमें लगातार कमी आ रही है। चार मार्च को चीन में केवल 139 नए मरीज ही कोरोना वायरस से ग्रसित पाए गए। समस्या यह है कि चीन में जहां कोरोना वायरस से ग्रसित मरीजों की संख्या में तेजी से कमी आई है, वहीं पिछले एक हफ्ते में चीन के बाहर इसमें बेतहाशा बढ़ोतरी देखी गई है। 16 फरवरी तक चीन के बाहर एक दिन के भीतर कोरोना वायरस ग्रसित होने वाले मरीजों की संख्या सौ से नीचे बनी हुई थी। लेकिन 17 फरवरी को यह आंकड़ा सौ से पार कर गया। यही नहीं, 22 फरवरी को तीन सौ, 28 फरवरी के बाद एक हजार और तीन मार्च से दो हजार से अधिक नए मरीज हर दिन सामने आने लगे। लेकिन अभी भी यह चीन के चरम से काफी कम है। 


ताजा आंकड़ों के मुताबिक पूरी दुनिया में कुल 94, 534 लोग ग्रसित हो चुके हैं। लेकिन इसका दूसरा पहलू यह भी है कि अभी तक 53,524 लोग ठीक भी हो चुके हैं। इसके मुताबिक चार मार्च को पूरी दुनिया में केवल 38,508 लोग ही इस वायरस से ग्रसित थे, जिनका इलाज चल रहा है। जबकि 17 फरवरी को कुल 58,747 लोग इससे ग्रसित थे। जाहिर है पूरी दुनिया में जितने लोग इससे ग्रसित हैं, उससे बहुत ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। 18 फरवरी को ही कोरोना से ग्रसित नए मरीजों और उससे ठीक होने वालों संख्या बराबर हो गई थी और उसके बाद ठीक होने वालों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है।


Popular posts