रजनीकांत ने दिल्ली हिंसा पर सरकार को घेरा


दक्षिण के सुपरस्टार रजनीकांत ने दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर केंद्र सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में उपद्रवियों ने इतनी बड़ी हिंसा को अंजाम दे दिया जिसमें दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल समेत 20 लोगों की मौत हो गई। उन्होंने कहा कि दंगों से सख्ती से निपटा जाना चाहिए था। उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर यह केंद्र सरकार की खुफिया विफलता है। मैं केंद्र सरकार की कड़ी निंदा करता हूं। उन्होंने मीडिया के एक तबके द्वारा उनके संबंध भाजपा से जोड़े जाने पर भी दुख व्यक्त किया।


उन्होंने यह भी कहा कि इसमें कहीं न कहीं केंद्र सरकार की कमी है। अगर आप से दंगे काबू नहीं किए जा रहे तो आपको सत्ता छोड़ देनी चाहिए। हालांकि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया।
अभिनेता ने उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों को केंद्र सरकार की असफलता बताया। रजनीकांत ने कहा कि आम लोगों के साथ-साथ दिल्ली पुलिस और आईबी के भी जवान की मौत हुई है, यह कोई छोटी बात नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि विरोध प्रदर्शन को हिंसक नहीं होना चाहिए। उन्होंने अपने उस पुराने बयान को भी याद किया जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर सीएए मुस्लिमों को प्रभावित करता है तो वह मुस्लिमों के साथ खड़े हैं।


Popular posts