निचले स्तर से उभर चुकी है आर्थिक वृद्धि दर


दिसंबर तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर के आंकड़े जारी होने के बाद वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि आर्थिक वृद्धि दर अपने निचले स्तर से उबरने लगी है। शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार चालू वित्त वर्ष 2019- 20 की दिसंबर तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर 4.7 फीसद रही है। एनएसओ ने वित्त वर्ष की पहली तिमाही और दूसरी तिमाही के लिए आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान भी संशोधित किया है। संशोधित अनुमान के मुताबिक वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी वृद्धि पांच फीसद से बढ़कर 5.6 फीसद और दूसरी तिमाही में 4.5 फीसद से बढ़कर 5.1 फीसद पर पहुंच गई।


आर्थिक मामलों के सचिव अतनु चक्रवर्ती ने कहा, 'हम पहले ही वृद्धि दर के निचले स्तर से उबर चुके हैं।' एनएसओ ने पूरे वित्त वर्ष 2019- 20 के दौरान वृद्धि दर पांच फीसद रहने का अग्रिम अनुमान व्यक्त किया है। चक्रवर्ती ने कहा कि प्रमुख उद्योगों में दिसंबर और जनवरी महीने में वृद्धि देखने को मिली है। यह चालू वित्त वर्ष की मार्च तिमाही के दौरान विनिर्माण क्षेत्र के लिये समर्थन प्रदान करेगा। 


Popular posts